Kgg-mp/1A/11. 00 The House met at eleven of the clock, mr. Chairman in the Chair obituary reference to justice V. R. KRISHNA IYER mr. Chairman



Download 1.96 Mb.
Page2/15
Date conversion15.02.2016
Size1.96 Mb.
1   2   3   4   5   6   7   8   9   ...   15

SHRI V.P. SINGH BADNORE (RAJASTHAN): Sir, I lay on the Table, a copy each (in English and Hindi) of the following Statements of the Department-related Parliamentary Standing Committee on Energy (2014-15):––

(i) Action taken by Government on the recommendations contained in Chapter – I and –V of the Thirty-eight Report (Fifteenth Lok Sabha) of the Committee on Action Taken by the Government on the Recommendations contained in the Thirtieth Report (Fifteenth Lok Sabha) of the Committee on ‘Functioning of Central Electricity Regulatory Commission’ pertaining to the Ministry of Power;

(ii) Action taken by Government on the recommendations contained in Chapter – I of the Thirty-ninth Report (Fifteenth Lok Sabha) of the Committee on Action taken by the Government on the Recommendations contained in the Thirty-fourth Report (Fifteenth Lok Sabha) of the Committee on ‘Demands for Grants (2013-14)’ of the Ministry of New and Renewable Energy;

(iii) Action taken by Government on the recommendations contained in Chapter – I of the Fortieth Report (Fifteenth Lok Sabha) of the Committee on Action taken by the Government on the Recommendations contained in the Thirty-fifth Report (Fifteenth Lok Sabha) of the Committee on ‘Demands for Grants (2013-14)’ of the Ministry of Power; and

(iv) Action taken by Government on the recommendations contained in Chapter – I of the Forty-fourth Report (Fifteenth Lok Sabha) of the Committee on Action taken by the Government on the Recommendations contained in the Thirty-seventh Report (Fifteenth Lok Sabha) of the Committee on ‘Development of National Grid’ pertaining to the Ministry of Power.

(Ends)


STATEMENT RE. IMPLEMENTATION OF ONE HUNDRED AND TENTH REPORT OF DEPARTMENT-RELATED PARLIAMENTARY STANDING COMMITTEE ON COMMERCE

THE MINISTER OF STATE OF THE MINISTRY OF COMMERCE AND INDUSTRY (SHRIMATI NIRMALA SITHARAMAN): Sir, I make a statement regarding Status of implementation of recommendations contained in the One Hundred and Tenth Report of the Department-related Parliamentary Standing Committee on Commerce on 'FDI in Pharmaceutical Sector'.

(Ends)


MR. DEPUTY CHAIRMAN: Shrimati Kanimozhi.

सुश्री मायावती : माननीय उपसभापति महोदय, मैं आपकी..(व्यवधान)..

MR. DEPUTY CHAIRMAN: I called Shrimati Kanimozhi ...(Interruptions)... Okay.

श्रीमती रेणुका चौधरी : वे कुछ कहना चाहती हूं।

श्री सतीश चन्द्र मिश्रा : आप सुन लीजिए।

सुश्री मायावती: महोदय, मुझे अपनी बात कहने का मौका दिया जाए।

MR. DEPUTY CHAIRMAN: Okay; all right. I will call you after this.
MATTERS RAISED WITH PERMISSION OF CHAIR

RELIGIOUS CONVERSION IN UTTAR PRADESH

सुश्री मायावती (उत्तर प्रदेश) : माननीय उपसभापति जी, पूरा सदन इस बात से अवगत है और सरकार भी इस बात से अवगत है कि हमारा जो देश है, वह भारतीय संविधान के मुताबिक चलता है।

(2सी-जीएस पर जारी)
PK-GS/11.10/1C

सुश्री मायावती (क्रमागत): भारतीय संविधान में धर्मनिरपेक्षता का प्रावधान है। परम पूज्य बाबा साहेब डा. अम्बेडकर ने जब देश का संविधान बनाया, तो देश में जो विभिन्न धर्मों को मानने वाले लोग रहते हैं, उनको ध्यान में रखकर भारतीय संविधान बनाया था। हमारे देश में विभिन्न धर्मों को मानने वाले लोग रहते हैं, केन्द्र में या राज्य में जिस भी पार्टी की सरकार बनती है, उसकी यह जिम्मेदारी बनती है कि उनकी जान-माल और मजहब की पूरी हिफाज़त की जाए। इसके साथ-साथ यह भी व्यवस्था भारतीय संविधान में है कि जो विभिन्न धर्मों को मानने वाले लोग हैं, उनके साथ किसी तरह की ज्यादती नहीं होनी चाहिए और उनका जबरन धर्म परिवर्तन नहीं कराना चाहिए। उत्तर प्रदेश आबादी के हिसाब से सबसे बड़ा प्रदेश है और हमें मीडिया के माध्यम से यह जानकारी मिली है तथा यह जानकारी सही है कि आगरा के अन्दर * का जो सहयोगी संगठन * है, ...(व्यवधान)...उस * ने वहां पर जो मुस्लिम समाज के लोग थे, उनको जबरन हिन्दू धर्म स्वीकार कराया है। ...(व्यवधान)... इससे भी ज्यादा गंभीर बात यह है कि उनको किस्म-किस्म का लालच दिया गया। ...(व्यवधान)... सबसे ज्यादा गंभीर बात यह है कि उनको लालच देकर, एक तो होता है स्वेच्छा से, अपनी मर्जी से धर्म परिवर्तन करना, उनको किस्म-किस्म का लालच देकर, उनकी

* Expunged as ordered by the Chair.



गरीबी का नाजायज़ फायदा उठाते हुए ...(व्यवधान)... उनको किस्म-किस्म का लालच देकर धर्म परिवर्तन कराया गया है। ...(व्यवधान)... इसके साथ-साथ अति गंभीर बात यह है कि हमें यह भी जानकारी मिली है कि अलीगढ़ के अंदर भी ये लोग इसी किस्म का प्रयास, इसी महीने के आखिर में करने वाले हैं। वहां पर जो क्रिश्चियन्स लोग हैं, ईसाई लोग हैं, उनका भी ये धर्म परिवर्तन कराना चाहते हैं। मैं समझती हूं कि इस मामले को सरकार को गंभीरता से लेना चाहिए। हालांकि सरकार यही कहेगी कि यह स्टेट का सब्जेक्ट है। ...(समय की घंटी)...

माननीय उपसभापति जी, मैं आपको यह बताना चाहती हूं कि यह जो जबरन धर्म परिवर्तन की मुहिम छेड़ी है, खासतौर से * और उनके सहयोगी संगठनों ने ...(व्यवधान)... यदि इसको नहीं रोका गया तो पूरे देश के अंदर साम्प्रदायिक तनाव पैदा हो जाएगा और देश के अंदर हाहाकार मच जाएगा। यह स्टेट का सब्जेक्ट नहीं है, यह सेंटर का भी सब्जेक्ट है। ...(व्यवधान)... स्टेट की जिम्मेदारी बनती है कि जो लोग इस तरह का काम करा रहे हैं, उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जाए, लेकिन स्टेट गवर्नमेंट के साथ-साथ यह सेंटर की भी जिम्मेदारी बनती है कि...(व्यवधान)...

MR. DEPUTY CHAIRMAN: Okay. ...(Interruptions) I have a list of.. ...(Interruptions)...

सुश्री मायावती: साम्प्रदायिक तनाव की लपटें पूरे देश के अंदर फैल जाएंगी।...(व्यवधान)... इसलिए सेंट्रल गवर्नमेंट को चाहिए कि जो जबरन धर्म

परिवर्तन कराया है ...(व्यवधान)... जिसके पीछे * का बहुत बड़ा हाथ है, इसको रोका जाए वरना पूरे देश के अंदर साम्प्रदायिक तनाव पैदा हो जाएगा। इसके लिए मैं सरकार से कहना चाहती हूं कि...(व्यवधान)...

MR. DEPUTY CHAIRMAN: I have the list of admitted Zero Hour notices. Let me proceed with this. ...(Interruptions)..

सुश्री मायावती : इस मामले को गंभीरता से लेना चाहिए और मैं अपनी बात रखने के साथ-साथ सरकार के जो मंत्री हैं, मैं उनसे भी जबाव चाहूंगी। ...(व्यवधान)...

MR. DEPUTY CHAIRMAN: Okay, Kumari Mayawatiji. ...(Interruptions)..

सुश्री मायावती : सेंट्रल गवर्नमेंट इस मामले में क्या कदम उठाने जा रही है, इस बारे में सरकार की ओर से मंत्री जी को जबाव देना चाहिए। ...(व्यवधान)...

MR. DEPUTY CHAIRMAN: Now, you please resume your seat.

अभी आप बैठ जाइए। ...(व्यवधान)... आप बैठ जाइए। ...(व्यवधान)...

SHRI P. RAJEEVE: Sir, it is a very serious issue. ...(Interruptions)..

सुश्री मायावती : उपसभापति महोदय, सरकार को इस बारे में जबाव देना चाहिए। ...(व्यवधान)...

MR. DEPUTY CHAIRMAN: Mayawatiji, now you please resume your seat. ...(Interruptions)... What do I do with this list?
* Expunged as ordered by the Chair.

श्री आनन्द शर्मा: सर, सरकार की ओर से सदन में बयान दिया जाए। ...(व्यवधान)...

श्री सत्यव्रत चतुर्वेदी: सर, सरकार खामोश क्यों है? ...(व्यवधान)... यह सरकार खामोश क्यों बैठी है? ...(व्यवधान)...

श्री अली अनवर अंसारी: सर, सरकार की ओर से जबाव दिलवाइए। ...(व्यवधान)...

श्री दिग्विजय सिंह : सर, इसके बारे में सरकार को जबाव देना चाहिए। ...(व्यवधान)...

SHRI T.K. RANGARAJAN (TAMIL NADU): Sir, I associate myself with this issue.

SHRI DEREK O'BRIEN (WEST BENGAL): Sir, I also associate myself with this issue. ..(Interruptions)..

SHRI D. RAJA (TAMIL NADU): Sir, I too associate myself with this issue. ..(Interruptions)..

SHRI ANAND SHARMA (RAJASTHAN): Sir, I too associate myself with this issue. ..(Interruptions)..

SHRIMATI KAHKASHAN PERWEEN (BIHAR): Sir, I too associate myself with the point made by the hon. Member. ..(Interruptions)..

SOME HON. MEMBERS: We associate ourselves with this issue. ..(Interruptions)..

MR. DEPUTY CHAIRMAN: What do I do with the admitted Zero Hour notices? ...(Interruptions).. Hon. Chairman has admitted 15 Zero Hour notices. What do I do with this? ...(Interruptions)..

SHRI V. HANUMANTHA RAO: Sir,..(Interruptions)..

MR. DEPUTY CHAIRMAN: What do you want? ..(Interruptions).. You go to your seats. ...(Interruptions).. What can I do if all of you stand up and shout? ...(Interruptions)..

(Contd. by PB/1D)

PB-ASC/1D/11.15

MR. DEPUTY CHAIRMAN (CONTD.): Mr. Hanumantha Rao, why don’t you go to your seat? ...(Interruptions)... Please go to your seat. ...(Interruptions)... If all of you stand up ... ...(Interruptions)... There are Zero Hour notices with me. What do I do with these notices? ...(Interruptions)... No, please don’t do that. Please don’t do that. ...(Interruptions)... If all of you stand up, what do I do? ...(Interruptions)...

सुश्री मायावती : सरकार को इस मामले में जवाब देना चाहिए। ...(व्यवधान)....

MR. DEPUTY CHAIRMAN: It is up to the Government. ...(Interruptions)... If they want, I have no problem. ...(Interruptions)...

सुश्री मायावती : यह अति गंभीर मामला है । ...(व्यवधान)....

MR. DEPUTY CHAIRMAN: If the Government wants to react, I have no problem. ...(Interruptions)...

सुश्री मायावती : यह संवैधानिक मामला है, यह जनहित का मामला है। ...(व्यवधान)....

SHRI SITARAM YECHURY: It is a very serious matter. The Government has to answer. ...(Interruptions)...

श्री आनन्द शर्मा : महोदय, सदन की भावना को देखते हुए, देश के संविधान को देखते हुए, सरकार को निर्देश दिया जाए कि वह इस पर अपनी सफाई दे। ...(व्यवधान)... सरकार स्पष्ट करे। ...(व्यवधान)...

MR. DEPUTY CHAIRMAN: Okay. Why don’t you hear the Minister? ...(Interruptions)... Let us hear the Minister. ...(Interruptions).. I think, we should hear the Minister. ...(Interruptions)... Please listen to the Minister. ...(Interruptions)... I think, the Minister is going to react. ...(Interruptions)... आप लोग बैठिए। ...(व्यवधान)... Please listen to the Minister. Please listen to the Minister. ...(Interruptions)... Please, please. ...(Interruptions)... Mr. Naqvi ; Please. ...(Interruptions)... Mr. Naqvi wants to react. ...(Interruptions)... Please. ...(Interruptions)... देरेक ओब्राईन जी, आप बैठिए। ...(व्यवधान)... Mr. Naqvi, please.

संसदीय कार्य मंत्रालय में राज्य मंत्री (श्री मुख्तार अब्बास नक़वी) : सर, आदरणीय मायावती जी ने और अन्य माननीय सदस्यों ने अभी सदन में यह मुद्दा उठाया है। पहली बात तो यह है कि हम उनको स्पष्ट करना चाहते हैं कि सदन में चाहे उधर बैठे हुए लोग हों, चाहे इधर बैठे हुए लोग हों, हम देश के सम्मान, देश के स्वाभिमान और देश के सौहार्द के प्रति उतने ही प्रतिबद्ध हैं .....(व्यवधान)... उतने ही जिम्मेदार हैं जितना कोई और है। .....(व्यवधान)... दूसरी चीज यह है कि जो सेकुलरिज्म के सियासी सूरमा हैं, उनको यह बात समझनी चाहिए कि सेकुलरिज्म किसी की मोनोपली नहीं है। सेकुलरिज्म के प्रति हमारी भी उतनी ही रेस्पांसिबिलिटी है, जितनी उनकी रेस्पांसिबिलिटी है। जहां तक particular उस घटना का प्रश्न है, तो वह घटना आगरा में हुई है। मेरी जानकारी के अनुसार उसमें FIR भी दर्ज हुई है और उसमें राजनीतिक कारणों से particular किसी संगठन का नाम लेना, बिल्कुल ठीक नहीं है। महोदय, मेरा आप से अनुरोध है कि जिस भी संगठन का नाम लिया गया है, विशेष तौर पर * के नाम को हटाया जाए, expunge किया जाए और जो भी कार्यवाही की जानी है, वह स्टेट गवर्नमेंट द्वारा की जानी चाहिए। .....(व्यवधान)... पहले मायावती जी सरकार में थीं और अब वहां पर मुलायम सिंह जी की सरकार है,
* Expunged as ordered by the Chair.

तो जो कार्यवाही करनी है, वह उनको करनी है। .....(व्यवधान)... वह राज्य की कानून व्यवस्था से जुड़ा हुआ मुद्दा है, केन्द्र से इसका कोई मतलब नहीं है।

(समाप्त)



SHRI SITARAM YECHURY: Sir, I want to say something. ...(Interruptions)... Sir, the point is, आप उधर के लोगों को बोलते हो और बीच वालों को भूल जाते हो। ...(व्यवधान)... सुनिए, हमारा यह कहना है,...(व्यवधान)...

श्री मुख्तार अब्बास नक़वी : आप बीच में नहीं हैं ... ...(व्यवधान)... आप फ्री हैं। ...(व्यवधान)...

श्री सीताराम येचुरी : आपने * से यह कहा कि 90 साल के बाद उनको केन्द्र सरकार का अधिकार मिला है, तो ये हिन्दू राष्ट्र के रूप में भारत को बदलेंगे। यह उनका कहना है, उनका यह मानना है।

MR. DEPUTY CHAIRMAN: That is their view only.

श्री सीताराम येचुरी : अगर यह करना है, क्रिस्मस के आगे गुमराह करके, जो इस तरह की बातें हुई, लोगों को गलत बातें बताकर उनके धर्म परिवर्तन करवाने का काम हुआ, इसका पूरा खंडन इस हाउस में होना चाहिए और प्रधान मंत्री जी को यहां आकर जवाब देना होगा, आप यह निर्देश दें। आपको चेयर पर बैठकर यह निर्देश देना होगा कि प्रधान मंत्री सदन में आकर जवाब दें। ....(व्यवधान)... सर, यह नहीं चल सकता। हिन्दुस्तान, भारत एक धर्मनिरपेक्ष
* Expunged as ordered by the Chair.

जनतंत्र का गणतंत्र है और यह रहेगा। यह संविधान है और अगर आप इसको बदलने की आप कोशिश करेंगे, तो आप नहीं रहोगे, लेकिन भारत रहेगा। आप इसको समझ लीजिए।

(समाप्त)



SHRI DIGVIJAYA SINGH: Sir, the issue is simple. Let us forget which organization has done it.

(Contd. By LT-SKC/1E)

LP-SKC/1E/11.20

श्री दिग्विजय सिंह (क्रमागत) : कौन-से दल ने किया, उसकी बात भूल जाइए, लेकिन प्रश्न इस बात का है कि किसी भी व्यक्ति को प्रलोभन देकर धर्म परिवर्तन कराना आपराधिक जुर्म है। ..(व्यवधान)..इस आपराधिक जुर्म का भागीदार कोई भी हो, किसी दल के व्यक्ति क्यों न हों, अगर ऐसा हुआ है, तो उस पर माननीय गृह मंत्री जी को बोलना चाहिए..(व्यवधान)..राज्य मंत्री जी यहाँ मौजूद हैं..(व्यवधान)..उनको बयान देना चाहिए..(व्यवधान)..उसके बारे में सरकार का क्या मत है..(व्यवधान)..उसको बताना चाहिए..(व्यवधान)..मैं उनसे यह भी अनुरोध करूंगा कि उनके खिलाफ तत्काल कार्यवाही करें..(व्यवधान)..

MR. DEPUTY CHAIRMAN: All right. ...(Interruptions)... That is enough. Now we can stop it. Now we can take up...(Interruptions)...

SHRI D. RAJA: Sir ...(Interruptions)...

MR. DEPUTY CHAIRMAN: What do I do with this? ...(Interruptions)... Now, please, I think we can now stop it. ...(Interruptions)... क्या है, बोलिए?

श्री शरद यादव : उपसभापति जी, मैं यह कहूंगा..(व्यवधान)..

श्री उपसभापति : ज़ीरो ऑवर लेना है..(व्यवधान)..

श्री नरेश अग्रवाल : ये सब लोग हल्ला मचा रहे हैं..(व्यवधान)..एफआरआई हो गई है..(व्यवधान)..कार्रवाई की जा रही है..(व्यवधान)..उस पर कार्रवाई हो रही है..(व्यवधान)...

श्री अनिल माधव दवे : अगर जवाब देना है तो..(व्यवधान)..

MR. DEPUTY CHAIRMAN: I think now we can take up Zero Hour. Please cooperate. Let us take up Zero Hour. ...(Interruptions)...

श्री शरद यादव : आप इनको बिठा लीजिए..(व्यवधान)..

SHRI D. RAJA: Sir, they are...(Interruptions)...

MR. DEPUTY CHAIRMAN: You have made your point. Government has also reacted on it. ...(Interruptions)... Okay; Sharadji, let me take up the Zero Hour. ...(Interruptions)... शरद यादव जी, क्या है?

श्री शरद यादव : मैं कह रहा हूं कि ये जो लोग खड़े हैं..(व्यवधान)..मैं कैसे बोलूं, क्या करूं?

श्री उपसभापति : सभी लोग बैठिए..(व्यवधान).. They too want to speak. Let us take up Zero Hour. ...(Interruptions)... I think that is okay. Now, we will take up Zero Hour. ...(Interruptions)... शरद जी, बोलिए क्या है?

श्री शरद यादव : उपसभापति जी, क्या ऐसे सदन चलेगा? मिनिस्टर वहाँ बैठे हों ..(व्यवधान)..और ये यहाँ खड़े हों..(व्यवधान)..

MR. DEPUTY CHAIRMAN: I would like to say, let us now take up Zero Hour. I would request the cooperation of all. Now, let us take up Zero Hour. ...(Interruptions)... शरद जी, ज़ीरो ऑवर लेने दीजिए..(व्यवधान).. बोल दिया है..(व्यवधान).. बोल चुके हैं..(व्यवधान).. The Government has also responded to it. I think hon. Minister ने रिस्पोंड कर दिया है..(व्यवधान)..बोल दिया है..(व्यवधान)..

SHRI ANAND SHARMA: Sir, the Government should be directed...(Interruptions)... We take note of what has been said. It doesn’t mean that we are satisfied. ...(Interruptions)... This House and the country needs reassurance that the Constitution of India will not be violated. There is a diabolic agenda of the * and the * . ...(Interruptions)... The country knows. They want to convert ...(Interruptions)...
* Expunged as ordered by the Chair.

MR. DEPUTY CHAIRMAN: However, I will go through the statements made. If anybody has made any baseless allegation or if anything is said spreading hatred, that would be expunged; that would be expunged. This is...(Interruptions)... Hon. Members, let us now take up ...(Interruptions)... Now, this issue has been raised. Government is also now aware of it. I think proper steps will be taken. ...(Interruptions)...

श्री विनय कटियार : हर समय बहस शुरू करा देते हैं..(व्यवधान)..

श्री नरेश अग्रवाल : माननीय उपसभापति जी..(व्यवधान)..

श्री विजय गोयल : ये हाउस नहीं चलने दे रहे हैं..(व्यवधान)..कोई न कोई बहाना करते हैं..(व्यवधान)..
1   2   3   4   5   6   7   8   9   ...   15


The database is protected by copyright ©essaydocs.org 2016
send message

    Main page